Welcome to WCD Digital E-Repository "ESanchayika "
www.esanchayika.mp.gov.in


ई-रिपोजिटरी(ई-संचयिका)>> मीडिया अपडेट>> आईसीडीएस न्यूज़ पोर्टल... Back
 | 
कमेंट करने वाले करने लगे तारीफ
06-May-2015
PHOTO
रूचि राय कक्षा दसवीं की छात्रा है। कुछ साल पहले तक वह गाँव की सामान्य लड़की ही थी, लेकिन मार्शल आर्ट के एक प्रषिक्षण ने उसकी जिंदगी ही बदल दी। अब वह गाँव की किशोरी बालिकाओं के लिए एक मिसाल है।

रूचि का नाम आँगनवाड़ी केन्द्र नोहटा बाल विकास परियोजना जबेरा में दर्ज है। सबला योजनांतर्गत उसने मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण लिया। इससे उसका आत्मबल बढ़ा। यही कारण है कि पिता का स्वास्थ्य ठीक न रहने पर उसने खेती-किसानी में मदद की। अपनी लगन एवं हुनर के चलते रूचि ने ट्रेक्टर चलाना सीख लिया। यह बालिका अपने परिवार की सबसे छोटी सदस्य होने के बाद भी अपने पूरे परिवार की जिम्मेदारी का भार भी उठा रही है।

आँगनवाड़ी केन्द्र ने उसे सही मायनों में पंख और साहस, आत्मविश्वास भरा एक ऐसा प्लेटफार्म दिया, जहाँ से प्रगति के रास्ते निकले।

किशोरी बालिका दिवस पर किशोरी समूह में सदस्य होने के साथ- साथ रूचि ने हर महीने आयोजित होने वाली गतिविधियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। चाहे नियमित कार्यक्रम हों या विशेष अभियान रूचि हमेशा सहयोग प्रदान करती है। उसने गाँव की 12 गर्भवती, 10 धात्री माताओं, 04 शाला त्यागी व 61 शाला जाने वाली किशोरियों को आई.एफ.ए. टेबलेट लेने के लिए प्रेरित करने का उत्कृष्ट कार्य किया है। इससे अन्य किषोरियों में भी जागरूकता आई है। आईएफए टेबलेट खाने से गाँव की किशोरी बालिकाओं में रक्ताल्पता जैसे मामलों में कमी आई। इससे यह सिद्ध होता है कि एक किशोरी की जागरूकता इस प्रकार के परिवर्तन ला सकती है।

आज के परिवेश में युवा दहलीज पर कदम रखती हुई किशोरी को संकीर्ण विचारधारा वाले समाज से भी जूझना पड़ता है। लोग कहते हैं कि बेटी बड़ी हो रही है ज्यादा समय घर से बाहर रहना ठीक नहीं है। आंगनवाड़ी की गतिविधियों में भाग लेने पर लोग रूचि का हौसला बढ़ाने की जगह कई तरह की टिप्पणियां करते। परंतु रूचि राय समाज की परवाह न कर निष्ठा से कार्य करती रही।

रूचि राय के हौसले एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सूफिया बेगम के सहयोग एवं प्रेरणा ने किशोरी को जागरूक व आगे बढ़ने की प्रेरणा दी। इससे बालिका पढ़ाई के साथ साथ, एक कुशल। वाहन चालक व कुशल कृषक के रूप में सामने आई। जो लोग टिप्पणी करते थे, वह अब तारीफ करते हैं।

PHOTO2 PHOTO3
 
News Id: 274
 
 
 
 
More related News>>
 
 
 
Hits Counter:  3599016 
आईसीडीएस मध्यप्रदेश (भारत)  द्वारा निर्मित एवं संचालित | सहयोग - एमपीटास्ट / एफएचआई 360